Entireweb SEO Service

Top home Remedy in Hindi (Be Healthy using Haldi)

Top home Remedy in Hindi
Be healthy with Haldi
प्राचीन काल से ही हमारे पूर्वजो द्वारा हमारे भोजन में कुछ ऐसी चीजें मिलाने का प्रावधान किया है जो प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से हमें स्वस्थ लाभ देने में सहायक हैं. जैसे हल्दी, जिसे हम मानते हैं कि यह हमारे भोजन को एक मनमोहक रंग देने मैं ही उपयोगी है जबकि हल्दी मैं वह औषधीय गुण हैं कि यह अकेली सौ रोगों पर भारी है. आइये जानते हैं हल्दी के कुछ औषधीय गुणों के बारे में -
हल्दी के एक बड़े चम्मच में लगभग 29 कैलोरी ऊर्जा, लगभग एक ग्राम प्रोटीन, 2 ग्राम फाइबर और 6 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। इसमें मैंगनीज, फास्फोरस और पोटेशियम जैसे खनिज शामिल हैं। आप कह सकते हैं कि हल्दी में जादुई पोषक तत्व होते हैं।

हल्दी के सम्बन्ध में कुछ रोचक तथ्य :-

  1. हल्दी का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में अंदरूनी एवं बाहरी सूजन के इलाज में तथा कैंसर की रोकथाम और उपचार के साथ-साथ गठिया के उपचार में भी इसका उपयोग किया जाता है.
  2. हल्दी में पाए जाने वाले एक पदार्थ "Curcumin" पर कैंसर की रोकथाम और उपचार के लिए शोध किया जा रहा है. करक्यूमिन के सबसे दिलचस्प लाभ यह है कि यह रक्त वाहिकाओं की lining को सुधार सकता है (जो कि एंडोथेलियम के नाम से जाना जाता है) जब एंडोथेलियम ठीक से काम नहीं कर रहा है, तो यह रक्तचाप और थक्के को नियंत्रित नहीं कर सकता है, जिससे हृदय रोग हो सकता है।
  3. हम सभी जानते है कि व्यायाम दिल के लिए अच्छा है, एक अध्ययन से पता चला है कि करक्यूमिन लेना संवहनी एंडोथेलियल फंक्शन को बेहतर बनाने में एरोबिक व्यायाम जितना ही प्रभावी है।
  4. पश्चिमी देशों ने हल्दी को पहली बार फैब्रिक डाई के रूप में अपनाया था। किन्तु वैज्ञानिक अब "Cystic Fibrosis" और विभिन्न हृदय और न्यूरोलॉजिकल रोगों (जैसे अल्जाइमर) की रोकथाम, प्रबंधन और उपचार के लिए हल्दी का अध्ययन कर रहे हैं।
  5. हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होने के कारण यह एक एंटी-एजिंग औषधि भी है। यह यह ऑक्सीडेटिव क्षति से लड़ सकता है और त्वचा की सुंदरता को बढ़ा सकता है। वर्ष 2016 में हुई एक वैज्ञानिक समीक्षा में पाया गया कि हल्दी में त्वचा की कई प्रकार से सुधार करने की क्षमता होती है

हल्दी का उपयोग कैसे करें :-

आप हल्दी का लेप बना कर त्वचा पर सीधे लगा सकते हैं, इससे यह त्वचा में निखार लाएगा, तथा दाग धब्बो को भी हटाने में मदद मिलेगी.
घर में किसी को चोट लगने पर या फिर खेलते हुए बच्चो के गिर जाने पर आप हल्दी को दूध में मिला कर पिला सकते हैं. यहाँ यह एंटिबाइटिक का कार्य करेगा तथा अंदरूनी चोट से बचाएगा।
चोट का दाग मिटाने के लिए भी हल्दी का उपयोग किया जा सकता है. किसी भी प्रकार का दाग नियमित हल्दी का लेप लगाने से कुछ समय बाद मिट जाता है.
आज जब आये दिन नयी नयी बिमारियों के बारे में सुनने को मिलता है तो ऐसे में स्वस्थ जीवन व्यतीत करने के लिए हर किसी को किसी किसी माध्यम से हल्दी का सेवन अवश्य करना चाहिए। धन्यवाद. 
    Also Read:HOW WATER THERAPY CAN HELP YOU TO LIVE A BETTER LIFE
    Previous
    Next Post »